अनु आंटी के साथ छत पर सेक्स का मज़ा

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम महेश है और में महाराष्ट्र से हूँ। यहाँ बारिश बहुत अच्छी होती है और बहुत मज़ा भी आता है। मुझे बारिश में घूमना बाईक को तेज़ चलाना अच्छा लगता है। मेरी उम्र 28 साल है और अभी तक मेरी शादी नहीं हुई है। ये कहानी बिल्कुल सच्ची है और ये मेरी और मेरे घर के सामने रहने वाली आंटी के बारे में है। अब में आपको ज्यादा बोर ना करते हुए सीधा अपनी स्टोरी पर आता हूँ। पिछले महीने में और आंटी पूना गये थे, उनको हॉस्पिटल में चेकअप करवाना था तो में भी उनके साथ गया था। हम रेल्वे स्टेशन पर लेट गये और हमारी ट्रेन मिस हो गयी। फिर आंटी ने मुझसे कहा कि हम बस से चलते है, बस स्टेण्ड रेल्वे स्टेशन से बस थोड़ा ही दूर है तो में और आंटी बस के लिए चल पड़े और जब दोपहर के 1 बज रहे थे।

फिर हमको बस तो मिली लेकिन बस में भीड़ ज्यादा थी। फिर आंटी को एक सीट मिली तो वो वहाँ पर बैठ गयी, अब में उनके साथ खड़ा था। उस समय आंटी ने सलवार कुर्ता पहना हुआ था और वो भी ब्लू कलर का। अब में उनसे चिपककर खड़ा था। अब आंटी मुझसे चिपककर बात कर रही थी और सब आंटी को देख रहे थे और देखेंगे भी क्यों नहीं? वो इतनी कमाल की जो लग रही थी। वैसे आंटी की उम्र 38 साल है, लेकिन मेकअप करने से वो 30 साल की लगती है और उनके बूब्स 36 साईज के है और वो ड्रेस के नीचे ब्रा नहीं पहनती तो उनके निप्पल ड्रेस से साफ दिखते थे। अब में तो उनके निप्पल को देखकर पागल हो गया था, अब बस अपनी रफ़्तार पर थी और में अपने काम में मस्त था।

फिर एक स्टॉप पर बस रुकी तो आंटी ने कहा कि उनको वॉशरूम जाना है। फिर में उनके साथ नीचे उतरा और फिर आंटी वॉशरूम में गयी। अब में पीछे से उसकी गांड देख रहा था और अब मेरा लंड उसी वक़्त हरकत में आ गया था। फिर आंटी वॉशरूम से जैसे ही बाहर आई तो उन्होंने मेरी हालत देखकर एक सेक्सी स्माईल पास की और मेरा हाथ पकड़कर बस में ले गयी। फिर आंटी बोली थोड़ी देर तू बैठ जा में खड़ी रहती हूँ। फिर मैंने कहा ठीक है। अरे यार में उनका नाम लिखना भूल गया, उनका नाम अनिता है और आंटी मेरे बाजू में चिपककर खड़ी थी। फिर कुछ देर के बाद आंटी ने अपना एक पैर मेरे पैर से लगा दिया और हिलाने लगी। फिर ऐसा करते-करते हम पूना आ गये। फिर हम बस से उतरे और हॉस्पिटल की तरफ चल दिए तो डॉक्टर वहाँ पर आए हुए थे तो आंटी का काम जल्दी हो गया। फिर हम वहाँ से निकले, लेकिन ट्रेन को आने में टाईम था। फिर आंटी बोली कि अब क्या करे? फिर मैंने आंटी से कहा कि क्यों ना शनिवार वाडा देखने जाए? तो अब आंटी को मेरा प्लान अच्छा लगा।

फिर हम ऑटो से शनिवार वाडा गये जो कि पूना में बहुत मशहूर है, वहाँ ज्यादा भीड़ नहीं थी तो आंटी और में घूम रहे थे। अब नीचे घूमने के बाद हम ऊपर की तरफ गये, अब वहाँ हम दोनों के अलावा और कोई नहीं था। फिर मैंने मेरा मोबाईल निकाला और आंटी की कुछ फोटो लेने लगा। अब फोटो क्लिक करते वक़्त आंटी का दुपट्टा नीचे गिर गया तो आंटी ने उसे उठाने के लिए जैसे ही हाथ नीचे किया तो मुझे उनके रस से भरे बूब्स दिखाई दिए। फिर आंटी ने दुपट्टा उठाते वक़्त एक नज़र मेरी तरफ देखा तो में उनके बूब्स को देख रहा था तो आंटी सिर्फ़ इतना बोली कि अच्छा लगा, लेकिन में तो अब उनके बूब्स में खोया हुआ था और मेरा लंड बहुत ज्यादा टाईट हो गया था। फिर में और आंटी एक जगह बैठ गये और नॉर्मल बातें कर रहे थे कि आंटी ने मुझसे कहा कि तुम मुझमें क्या देख रहे थे? तो अब में क्या बोलता? फिर मैंने सीधा बोल दिया कि में आपके बूब्स देख रहा था, जिसने मुझे सुबह से पागल बना दिया है तो आंटी हंसने लगी और बोली तो हाथ भी लगाकर देखना।

फिर मैंने मेरी नज़रे यहाँ वहाँ घूमाकर देखा तो ऊपर हम दोनों के अलावा कोई नहीं था। फिर में आंटी के करीब गया तो आंटी ने मेरी कमर में हाथ डाला और मुझे अपनी तरफ ज़ोर से खींचा। फिर में बोला कि आंटी क्या कर रही हो? फिर आंटी बोली सिर्फ़ मुझे अनु बोल महेश और मुझे आज मत रोक में बहुत प्यासी हूँ। अब में आंटी के लिप पर किस करने लगा। अब हम एक दूसरे के लिप के साथ खेल रहे थे, तभी हमें किसी के ऊपर आने की आवाज़ आई तो हम दोनों अलग हो गये, लेकिन अब आंटी तो गर्म हो चुकी थी तो आंटी ने कहा कि महेश अब में और नहीं रूक सकती हूँ, मेरी चूत में पानी आ रहा है। फिर मैंने कहा कि अनु आग तो मेरे लंड में भी लगी है तुम्हारी चूत में कब डालूं? फिर अनु और में गंदी बातें करते करते रेल्वे स्टेशन पर आ गये। और फिर आंटी ने कहा कि महेश तुम इतनी अच्छी गंदी बातें कैसे करते हो? मेरा तो पानी निकला जा रहा है। फिर मैंने कहा कि आंटी थोड़ा और रोक कर रखो। फिर देखो कितना मज़ा आता है, उतने में एक फास्ट ट्रेन आई तो हम दोनों उसमें चढ़ गये और बैठ गये, क्योंकि उस ट्रेन में लोनवला के भी कुछ लोग थे।


Comments are closed.



Online porn video at mobile phone


boor land chodaiNEW SIXY STORYbhabhi devar chudaipapa ne ki chudaiANTARVASNAchudai ki kahani balatkarhindi sexy chut ki kahanisex hindi storeysuhagrat me sex ko anjam kese dechacha ke ladki ka sat antervasnameri biwi mere businessman chodi antarvasnaसगि भाची को चोदने की हिँदी कहाणीsavita bhabhi hindi free storiesचुत मे पुरा लडchudai bur mejungle chudai storyDost ka bhabi bahan maa fuckxxx storyGay jaat antarvasnaxx khanaye hindi maantarvasnalatest hindi gay storiesHindi story sexy बहन की चुदाई2 पोलीसवाली सेक्स कहाणीchut lene ki kahanichachi ki chodai ki kahanibap beti new sex stories part no.23sunita didh ki xxx story hindisexy story in hindi with videochudwaima beta ki chudai ki khaniTusion wali didi ki jabarjasti gand mari antarwasna in hindiमाँ को चूदते देखा बेटी नेindiansexpapa comsex monieka me didiआटी ने मांगा लंड porhun XXXXaunty ki burmast aunty sexpanjabi auntu ki gori jangh storysex sory kahtarnak in hindinew chootbahu ne pallu gira ke doodh dikha sex hindi khanisapna pabbi sexbete ne choda storychodai storessaali ko chodaseema ki chudaikinnar ki chutxxx hot piriti nandani hindi kahaniya komismera patti apna dostse meri chudei hindiविधवा लडकी चोदोbachpan me bhabhi ne mujhe chut ka swad chakaya sex storieschut ki jawanibete ne maa ki chudai kichudai ka mazacar sikhate waqt ki chudaiXxx kahani sachi maa k sath lesbiangand mari ladkiAhemdabad ki sexi khaniya hindimehttp://mampoks.ru/phimsexhd/tag/indian-boobs/page/3/hinde sax storeyalia bhatt ki chut videobhoot sex movieladki ka lundteacher ko choda kahanisunita ko chodaJawardasti chudai me chukh nikal diya videoरात में भाभी चूड़ी पापै से काग्निsans ko chodakamuctamami ki sex storyphoto chudai kahanibhabi or devar ki chudaibibi ke chakkar me bahan chud gai xxxx videobahan ki cudai rajai me kihalala hindi kahanichoda chudai kahaniMaa ki chudai hindi storybaap beti ki chudai hindibahu ne sasur se chudaiharyana hot sexrajasthani sexy storychut chudai indianhindi desi bhabhi ki chudaiChoti bahen ko chodkar rand banaya kahanigaand mai lunddesi aunty chootma ko choda ristedar ke ghar me