बस में आंटी की चूत का भोसड़ा बनाया भाग २

फिर इधर-उधर की बातें करके हम सोने की तैयारी करने लगे और एक दूसरे को गुड नाईट बोलकर सो गये। फिर मैंने देखा कि भाभी भी उल्टी पीठ करके सो गई, अब में सीधा सोया हुआ था। फिर थोड़ी देर यानी आधा घंटा हुआ, लेकिन मुझे भाभी की गांड देखकर नींद नहीं आ रही थी। अब भाभी थोड़ी नींद में होगी, क्योंकि वो हिल नहीं रही थी। मेरी हाईट ज़्यादा थी तो मेरे पैर सामने टकरा जाते थे। फिर मैंने अपने पैरों को मोड़ा और भाभी की पीठ की तरफ मुँह रखकर सो गया, जिससे मेरे घुटने भाभी की गांड से टच हो गये और मुझे पीछे से भाभी के गहरे गले के ब्लाउज से उसकी पीठ दिखने लगी। अब मेरा 8 इंच का लंड पेंट में तंबू बनने लगा था। अब मेरे बदन में एक कंपकपी उठ गयी और उतेज्जना से मेरा बदन कांपने लगा और मेरे घुटने से उसकी गांड की नरमाई मुझे आनंद दे रही थी। अब भाभी की साड़ी कमर पर नहीं थी। उसकी कमर का कटाव कोई गहरे खड्डे जैसे बनकर ऊपर गांड पर फिर से अचानक उठ जाता था। अब भाभी सीधी हुई और मेरी साईड सर घुमाकर सो गयी। अब वो नींद में ही ऐसे घूमी थी और उसकी छाती से साड़ी का पल्लू हट चुका था और उसके बड़े-बड़े स्तन अब मेरी नज़र के सामने थे, नीचे वाला स्तन तो सीट पर दबकर फैल गया था और ऊपर का अपनी नौकदार ऊँचाइयों से ब्लाउज फाड़ने को बेताब हो ऐसे ब्लाउज से चिपका हुआ था।

अब एक नज़र में लगता कि ये अभी फाड़कर बाहर आ जायेगा। फिर मैंने नीचे नज़र की तो देखा कि उसके ब्लाउज के 2 हुक खुले हुए थे और ऊपर के सिर्फ़ 3 हुक से ही उसके बूब्स संभले हुए थे। फिर मेरा मन हुआ कि अभी पकड़कर मसल डालूं और चूस-चूसकर उसका दूध निकाल दूँ, लेकिन मेरी हिम्मत नहीं हो रही थी। फिर थोड़ी देर हुई कि उसको ठंड लगने लगी तो उसने बैठकर कंबल निकाला और ओढ़ लिया। अब मेरा बदन ठंड और उत्तेजना से कांप रहा था, शायद उसकी नज़र मुझ पर पड़ी और उसने मुझसे पूछा कि आप कंबल नहीं लाए?

में : जी, में वो नोन ए.सी. का प्लानिंग करके ही निकला था तो नहीं लिया था। फिर उसने बोला कि कोई बात नहीं आप मेरा कंबल शेयर कर लीजिये वरना ठंड लग जायेगी और उन्होंने ए.सी. बहुत ही स्लो कर दिया और एक साईड मुझे ओढ़ने को दिया। अब में उसके कंबल में दाखिल हो गया और अब भी वो मेरी साईड सर रखकर सोई थी और में भी उसकी साईड पर था।

फिर थोड़ी देर में अपनी आँखे बंद करके सोया और वो भी सोने की कोशिश करने लगी, अब एक कंबल में होने से अब मुझे कंबल के अंदर गर्मी महसूस होने लगी थी। फिर करीब आधे घंटे के बाद मैंने हल्की आँखे खोली तो देखा कि वो सो गई है और उसके बदन से कंबल बिल्कुल ही हट गया है। अब वो सीधी सोई हुई थी और सांसो के साथ उसकी दो बड़ी चूचियां ऊपर नीचे हो रही थी। फिर मैंने सोचा कि बेटा अगर हिम्मत नहीं करेगा तो फिर कभी चूत नहीं मिलेगी और अगर पकड़े गये और डांट पड़ी तो नींद का बहाना बनाकर सॉरी बोल दूँगा, मगर ट्राई नहीं किया तो में मर्द किस काम का? फिर ये सोचकर में उसकी साईड थोड़ा खिसका और टेढ़ा सोकर वैसे पैरों को एक कोने में कर दिया और मेरा सर उसकी बगल के बाजू में ला दिया।

अब वो अपना हाथ सर के नीचे रखकर सोई थी तो उसकी बगल मेरे चेहरे से सिर्फ़ 2 इंच की दूरी पर थी। अब में मेरी नाक को उसकी बगल के करीब ले गया और उसे सूंघने लगा, वाऊऊव्वववव ओह माई गॉड क्या स्मेल थी? अभी भी याद करके मेरा लंड खड़ा हो जाता है। उसकी बगलों में एक भी बाल नहीं था, अब में तो अपनी नाक टच करकर उसे स्मेल करने लगा था। फिर मैंने अपना सर थोड़ा अलग किया और एक हाथ उसकी बगल से ऊपर रहे वैसे हथेली उल्टी करके उसके बूब्स को छुआ, लेकिन मुझे कुछ मज़ा नहीं आया, क्योंकि हथेली तो उल्टी थी और फीलिंग तो सीधी हथेली में ही आती है। फिर मैंने सीधी हथेली करकर जैसे नींद में ही उस पर हाथ गिरा हो वैसे उसके बूब्स पर हाथ रख दिया। फिर भी वो नहीं हिली। फिर मैंने उसके बूब्स की पूरी गोलाई पर हाथ घुमाया और उसकी नर्माहट महसूस करके पागल हो गया।

अब मेरा 8 इंच का लंड पेंट में नहीं समा रहा था। फिर अचानक वो मेरी साईड पलटी तो मेरा सर उसकी छाती में समा गया, मतलब उसकी गर्दन पर और मेरी नाक उसकी दो घाटियों के बीच में टच हो रही थी। अब मुझे लगा कि वो अब जाग गयी है और सोने का नाटक कर रही है तो में भी वैसे ही सोए हुए उसकी घाटियों की खुशबू सूंघने लगा। अब उसके घूमने से मेरा हाथ जो कि उसके बूब्स पर था, वो सीधा ही उसके घूमने से उसके ऊपर के बूब्स से दब गया। फिर मैंने अपने हाथों को सीधा किया और उसके बूब्स को थोड़ा प्रेस किया तो मुझे हल्की सिसकी की आवाज़ सुनाई दी तो में समझ गया था कि वो जाग रही थी। फिर मैंने उसके बूब्स को हथेली से दुबारा दबाया तो उसकी फिर से सिसकी निकल गयी। फिर उसने अपना एक हाथ मेरे सर पर रखकर मेरे सर को अपनी छाती पर दबा दिया। अब कुछ समझना बाकी नहीं था। फिर मैंने थोड़ा दूर हटकर सीधे ही उसके ब्लाउज के हुक खोलने लगा और फटाफट तीनों हुक खोल दिए और उसकी ब्रा के ऊपर से ही बूब्स दबाने लगा, उसके बूब्स रुई से भी नर्म और किसी भट्टी की तरह गर्म थे।

फिर मैंने अपना मुँह ऊपर किया और अपने होंठो को उसके होंठो से चिपका दिया तो वो कुछ नहीं बोली और मेरा साथ देने लगी। अब उसने मेरी जीभ के स्वागत में अपना पूरा मुँह खोल दिया और अपनी जीभ से मेरी जीभ रगड़ने लगी। फिर उसने पीछे हाथ डालकर अपनी ब्रा के हुक को भी खोल दिया और मुझे बोला कि चूस राजा इस फड़फडाते कबूतरो को भी चूस, अब मेरी तड़प मिटा दे राजा, अहह ज़रा धीरे दबा राजा, अब मेरे दबाते ही उसके मुँह से आह्ह्ह निकल गई। उसके बूब्स इतने बड़े थे कि मेरी पूरी हथेली में एक भी नहीं आता था, अब में उसकी निप्पल को चुटकी में भरकर मसल देता तो उसकी सिसकी और निकल जाती, अब उसके मुँह से हल्की- हल्की सिसकियां निकल रही थी।

फिर मैंने नीचे हाथ डालकर उसके पेटीकोट के अंदर अपना हाथ डालना चाहा, लेकिन वो टाईट बँधा हुआ  था तो मैंने थोड़ा और झुककर उसे नीचे से ऊपर तक उठा लिया और उसकी नर्म जांघो को सहलाने लगा। अब वो काबू से बाहर थी और मेरे बालों को पकड़कर मुझे लगातार किस किए जा रही थी। फिर मैंने नीचे उसकी जांघो से ऊपर हाथ ले जाकर उसकी नर्म चूत पर पूरी हथेली रख दी और अपनी हथेली में चूत को भींच लिया। अब उसकी चूत पानी छोड़ने लगी थी और उसकी पेंटी ऊपर से गीली हो गई थी। फिर मैंने उसकी पेंटी को साईड में करके अपनी उंगली से उसकी चूत के छेद को छेड़ा और अपनी उंगली से उसकी चूत के होंठ सहलाने लगा और लंबाई में उंगली फेरने लगा। अब वो सीधी हो चुकी थी और में उसके ऊपर सोते हुए उसको लगातार किस कर रहा था। अब मेरा लेफ्ट हाथ उसके बूब्स को मसलने में व्यस्त था और सीधा हाथ उसकी चूत को सहलाने में व्यस्त था।

फिर मैंने उसकी पेंटी के अंदर हाथ डालकर नंगी चूत के ऊपर हाथ रख दिया और उसे भींच लिया। अब मेरी पूरी हथेली गीली हो गयी थी। अब उसकी चूत लंड लेने को बिल्कुल तैयार थी और वो ना जाने कब से मेरे और उसके शरीर के बीच में हाथ डालकर मेरे लंड को पेंट के ऊपर से ही टटोल रही थी और अपनी हथेली में भरकर दबा रही थी। फिर मैंने उसके दोनों बूब्स को अपनी हथेली में भींचना चालू किया और उसके ऊपर आ गया। फिर उसने खुद ही अपनी गांड ऊँची करके अपनी पेंटी पूरी निकाल दी और मुझे अपनी दोनों टांगो के बीच में ले लिया। फिर उसने अपने हाथ से मेरे लंड को चूत के छेद पर टिकाया और फिर मेरी गांड पर हाथ रखकर मुझे अपनी और खींचने लगी।

फिर मैंने एक ज़ोर का धक्का देकर अपना पूरा लंड उसकी चूत में डाल दिया तो उसकी चीख निकलते- निकलते बच गयी, वैसे वो चुदी हुई होने से उसे ज़्यादा तकलीफ़ नहीं हुई। अब में उसे दे दनादन चोदने लगा, वो तो अच्छा था कि में नीचे की स्लीपर सीट में था वरना मेरे धक्को से सीट टूट ही पड़ती। अब लगातार धक्को से वो निढाल हो गई और ठंडी पड़ गयी, लेकिन मेरा अभी बाकी था तो मैंने अपना लंड निकाल कर उसके मुँह में ज़बरदस्ती घुसा दिया। अब वो ना-नु कर रही थी, लेकिन यहाँ उसकी सुनने वाला कौन था? अब में उसके मुँह को चोदने लगा और अब उसके मुँह की गर्मी में मेरा लंड भी थक गया और अपना पानी छोड़ने लगा। फिर हमने और एक राउंड भी लिया। फिर उसने मुझसे मेरा नम्बर माँगा तो मैंने उसे दे दिया। अब जब भी वो घर पर अकेली रहती है तो मुझे घर पर बुला लेती है या फिर कई बार हम कोई होटल में भी स्वर्ग के सुख को भोगते है। वाह भगवान ने चूत बनाई ही ऐसी है कि कोई भी मर्द उसमें खो जाए, इतना आनंद प्रदान करने वाली एक चूत ही तो है ।।

धन्यवाद …


Comments are closed.



Online porn video at mobile phone


choot dikhachudai antarvasna combhachi ka xxx jabri gharsex photo देशी भाभी नौकर Cartoonभाभी की Sexy storyKashmkash sexstory kashmiri chutdidi chootsunder chutpatni ko chudwayaantarvasnaantarvasna free hindi kahanishort story of the bhadde gande tareke se chudai ki khanibhabhi devar ki chudai hindi storychudai suhagratbehan chudaibhanu sexantarvasnashivani ki bur ki seal todiसालि काे चाेदाsali ki seal todiladki ko choda storyAeglendHabsi lovda kahanihindisexkahaniwww.sexy.story.bhabi.naand.ko.pulicewale.choda.hindi sexy story with auntysavita bhabhi new storiesgandi chut ki kahaniRANDI.BANNE.KA.SAFAR.HINDI.SEX.STORYindian sex kathamaa ki chudai ki hindi kahanikali ladki ki chudaihindi hot chudai storiesshaurti ko blackmail krke choda khaninaukrani ko chodabiwi xxx kahanisex cut ki khani Hindibache ki gand marihindi xexgays sex veidos hindesexxsalichudai kahaniGirls chodansex story.comXxxबहन ने लड लियाwww chudai hindi kahani commausi ki chudai inxxx khaniyawww.antarvasna bra panty hindi story hindi patternantarvasna story freechudai ki kahani maa bete kiनाहाने का सेक्सsabun lga ke chachi ke mje liyejabardast chudai hindiHot ubhar daar gaand wali bhaabhi ko choda train me storizarina ki chudaibur chudai hindi storyमाँ ने कहा मामी को बीबी बना कर चोदलेमम्मी की दमदार चुदाई का सँग्रहmeri anokhi chudaihindi chudai com asam ke jangal ki nokrani ki chodai ki hindi khanisexe story hindihindi antarvasna chudaiREEKH KI CUDAI HDI MAbhai behan chudai sex storysrcy antarvasna story of a girl at coachingaunty ki gand se mera lund antarvasnachudai kahani baap beti kichachi ki chudai hindichut chut ki chudaidesi bhabhi sec