ड्राईवर ने जबरदस्ती की

हैल्लो दोस्तों, यह मेरी पहली कहानी है जो एक सच्ची घटना है। मेरा नाम नुपुर है और में देहरादून में पढ़ती हूँ और मेरा फिगर 34-26-30 है। जब मेरे साथ ये घटना हुई तब में बस 19 साल की थी और तब में कॉलेज में पढ़ती थी और तब भी मेरे बूब्स अच्छे दिखते थे और उनका साईज़ 32 था। में आपको बता दूँ कि मेरा रंग गोरा है और हाईट 5 फुट 6 इंच है। जब ये घटना हुई तब में कॉलेज अपनी कॉलेज वेन से जाया करती थी और में हमेशा वेन में ड्राइवर की पास वाली सीट पर बैठा करती थी। मेरी वेन का ड्राइवर 26 साल का दुबला पतला सा लड़का था। वो हमेशा मुझे टोफ़ी और चॉकलेट दिया करता था। मुझे तब तक उसकी गंदी सोच के बारे में पता नहीं था, क्योंकि में बहुत शरीफ हुआ करती थी, लेकिन जब मेरे बूब्स बड़े हुए तब से उसकी सोच मेरे लिए कुछ और हो गई थी। मेरा घर हमेशा आख़िर में आता था तो वेन में ड्राइवर के साथ में अकेली रह जाती थी और सुबह के वक़्त भी कुछ समय तक में अकेली होती थी।

एक दिन सुबह-सुबह में कॉलेज जाने के लिए लेट हो गई तो में जल्दी-जल्दी में अपने जूतों के फीते बांधना भूल गई और ऐसे ही वेन में बैठ गई और ड्राइवर ने मुझे स्माइल देकर दरवाज़ा खोला और में वेन में बैठ गई। जब में वेन में बैठी थी तब मेरी स्कर्ट थोड़ी ऊपर हो जाती थी और मेरी जांघे दिखने लग जाती थी। फिर उस दिन भी ऐसा ही हुआ, ड्राइवर ने मेरे जूतों के फीते खुले देखे और बोला नुपुर तुम्हारे जूतों के फीते खुले है इसे बांध लो। फिर मैंने उससे कहा कि में कॉलेज में बाँध लूँगी। लेकिन उसने बोला कि कॉलेज में तुम फीते के कारण गिर जाओगी तो रूको में तुम्हारे फीते बाँध देता हूँ।

यह कहकर उसने अपना एक हाथ मेरी जांघो पर रखा और झुककर फीते बाँधने लग गया, उसके झुकते ही उसने मुझसे मेरे पैर थोड़े फैलाने को बोला जिससे वो मेरे फीते आराम से बाँध सके। फिर मैंने भी अपने पैर थोड़े फैला दिए, जब मेरे पैर थोड़े से खुले तो ड्राइवर ने इस बात का फायदा उठाकर मेरी टांगो की जगह से मेरी पेंटी देखनी शुरू कर दी और जांघो पर अपना हाथ फैरने लग गया। मुझे यह सब ग़लत लगा तो मैंने उसका हाथ हटा दिया और अपने हाथों का एक साथ ज़ोर दिया ताकि वो मेरी पेंटी से मेरी चूत की फीलिंग ना ले सके, लेकिन वो फिर मेरे फीते बाँधने लग गया। फिर फीते बाँधकर उसने फिर से वेन चलानी शुरू कर दी और फिर बाकी बच्चो के घर से उन्हें लेने लग गया। में बहुत डरी हुई थी तो जब तक कॉलेज ना आया तब तक में वेन की खिड़की से बाहर ही देखती रही और ड्राइवर की तरफ नहीं देखा।

मुझे कुछ समझ नहीं आ रहा था कि उसने ऐसा क्यों किया? बस एक गंदी सी भावना आ रही थी। फिर हम कॉलेज पहुंचे और कॉलेज में व्यस्त हो गए। फिर कॉलेज की छुट्टी के बाद में फिर से वेन में जाकर बैठ गई, फिर उसने सबको घर छोड़ दिया अब ड्राइवर और में हमेशा की तरह वेन में केवल में अकेली रह गयी थी, ड्राइवर के मुँह पर अजीब सी हंसी थी। फिर उसने मुझे टोफ़ी दी और मैंने वो रख ली, फिर वो मेरे बाहर देखने का फ़ायदा उठाते हुए उसने वेन लंबे रास्ते से ले ली और जब मैंने उससे पूछा कि ये दूसरे रास्ते से क्यों ले रहे हो? तो उसने कहा कि दूसरे रास्ते में ट्रेफिक जाम है तो वेन इस रास्ते से ले ली। वो टूटा फूटा रास्ता था तो वेन के झटको से मेरी स्कर्ट फिर से ऊपर हो गई, यह देखते ही ड्राइवर को पता नहीं क्या हुआ? और उसने अपना हाथ मेरी जांघ पर रख दिया और मेरी जांघो को रगड़ने लग गया। फिर मैंने उसका हाथ हटाया तो उसने अपनी हवस वाली मुस्कान देते हुए फिर से अपना हाथ मेरी जाँघो पर रख दिया और रगड़ता हुआ थोड़ा ऊपर भी हाथ फेरने लग गया। मेरी हालत रोने जैसी हो गई थी, क्योंकि उसने मेरी जाँघो को बहुत ज़ोर से पकड़ा हुआ था और में अपने दोनों हाथों से भी उसका हाथ नहीं हटा पा रही थी।

फिर उसने अपना हाथ हटाकर मेरे लेफ्ट बूब्स को पकड़ लिया, मेरे बूब्स को उसने ऐसे पकड़ा कि मेरी चीख निकल गई और में चीखी आआआहह माँ। उसने फिर मेरी तरफ देखते हुए पूछा कि क्या में तुम्हारी पेशाब करने वाली जगह चेक कर सकता हूँ? ये सुनकर में रो पड़ी। फिर उसने वेन एक सुनसान इलाक़े में रोक दी और मेरे आंसूओं को मेरी छाती से अपनी ज़ुबान से लिक किया और मेरे होंठो पर स्मूच करनी शुरू कर दी और में अब भी रोये जा रही थी, लेकिन मैंने अपना मुँह बंद रखा हुआ था। फिर उसने अपने होंठ थोड़े पीछे किए तो इतनी देर से अपने होंठ बंद रखने के कारण मैंने रिलेक्स होने के कारण अपने होंठ थोड़े खोले, तभी झट से ड्राइवर ने मौके का फायदा उठाते हुए अपनी ज़ुबान मेरे मुँह में डाल दी और फ्रेंच किस करनी शुरू कर दी और एक हाथ से मेरे बूब्स दबाने शुरू कर दिए। में मम्मी मम्मी कर रही थी, लेकिन उसने इस बात की परवाह ना करते हुए मेरे मुँह पर हाथ रखकर मुझे अपनी गोद में उठाया और मुझे पीछे की सीट पर लेटा दिया। दोस्तों ये कहानी आप चोदन डॉट कॉम पर पड़ रहे है।

फिर मैंने ड्राइवर से मुझे घर छोड़ देने को बोला, लेकिन वो कहने लगा कि तू जब से जवान हुई है तब से में तेरे बारे में सोच कर मुठ मारता हूँ, तो में तुझे कैसे जाने दूँ और चुपचाप हो जा नहीं तो यही जंगल में नंगी छोड़ जाऊंगा। फिर में डर गयी और उसने मेरी शर्ट उतार दी और ब्रा फाड़कर मेरे दोनों बूब्स को दबाया और सीधे बूब्स के निप्पल पर काटना शुरू कर दिया। में दर्द के मारे रो रही थी और मुझे जाने दो की पुकार लगा रही थी, लेकिन उसने मेरी एक ना सुनते हुए मेरी स्कर्ट निकाल फेंकी और पेंटी के ऊपर से मेरी चूत को रगड़ने लग गया, मेरी चूत भी गीली हो गई थी। तब उसने मेरी काली पेंटी को फाड़ दिया।

फिर मेरी चूत को देखकर बोला कि वाह क्या चिकनी चूत है तेरी? अब तैयार हो ज़ा औरत बनने के लिए। तो में डर गई क्योंकि मुझे नहीं पता था कि अब वो क्या करेगा? और में रोये जा रही थी, उसने मेरी चूत पर थप्पड़ मारे और चाटना शुरू कर दिया। फिर उसने अपना लंड जो 7 इंच का था मेरी चूत के छेद पर टिकाया और एक धक्का मारा, लेकिन उसका लंड फिसल कर मेरे पेट पर आ गया। फिर उसने फिर से लंड टिकाया और मेरी कमर को पकड़ कर ज़ोर से धक्का मारा और मेरी चूत फाड़ कर उसका लंड आधा अंदर घुस गया। मेरी दर्द के मारे चीख निकल गई में आआआअ मम्मी करके रोने लग गई, लेकिन वो जानवरों की तरह मेरे निपल्स पर काट रहा था और लंड घुसने के बाद उसने 1 मिनट तक अपने लंड को फिट किया और झटके मारना शुरू कर दिया और मेरी चीखे निकलनी शुरू हो गई। मुझसे दर्द सहन नहीं हो रहा था और खून निकल रहा था। लेकिन ड्राइवर मुझे जानवरों की तरह जोर-जोर से चोद रहा था।

फिर उसने मेरी टांगे और चोड़ी की और 10 मिनट की चुदाई के बाद उसने अपना वीर्य मेरी चूत में भर दिया और लंड बाहर निकालकर मेरी चूत पर मारने लग गया। में अभी भी मरी हुई पड़ी थी और फिर ड्राइवर ने अपनी उंगली मेरी चूत में डालकर वो सारा पानी निकाला और पानी की बोतल से पानी पीकर कुछ देर लेट गया। फिर कुछ देर बाद उसने मुझे कपड़े पहनने को बोला और धमकी लगाई कि अगर मैंने किसी को बोला तो वो मेरा अपहरण करके रोज़ मुझे ऐसे ही चोदेगा। फिर मैंने डर के मारे उसे हौसला दिया कि में ये किसी को नहीं बताउंगी और उसने मुझे फिर घर छोड़ दिया। उस दिन में सारा दिन चल नहीं पाई और कमरे में बैठी रही और डर के मारे मैंने अपनी माँ को बोलकर वो वेन बदल ली, लेकिन अभी भी वो मुझे देखकर गंदे गंदे इशारे करता रहता है ।।

धन्यवाद …


Comments are closed.



Online porn video at mobile phone


Beti ki saheli aur mai antarvasna hindiindian teacher sex storieschudai sexi khanihindi sexy ladkihindi aunty sexy storyhindi chudai ki kahani hindi mesali ki chut chodiकाकू आणी भाभी व मी सेक्स मराठी व्हिडीओ डाऊनलोडsexy nokranibahan ki chudai in hindi fontbhabhi ki chudai ki hindi storiesghar me chudai ki storybur chudai story hindiindian boor ki chudaigujarati sex vartahidi saxrandi ki chut ki kahanidesi boor ki chudaikamukta sexychudai gand mebhai bhan ki sexy storyanushri sexnangi ladkiyo ki chutbabita bhabhi sexbehan ko chod ke pregnant kiyamausi ki chudai in hindigigolo hindi storysitory xxxindiansexkahani comhindi sex story maa ke chit me dildolmoti gaand chudaimastram bhabhi ki chudaikuwari chudai kahaniwww gujrati virgin suhagrat sex kahaniबहन की चोदाई कहानीgarma garam kahanidesi shemale mother sex story kamvasna.commoti bhabi sexchodai karovirat sexstudent aur teacher ki chudaishemale and girls sex storis hindi me randimausi ki chudai ki kahani videodesi chudai fbsxe hindi storichudai store in hindisex story hindi sadi ibcent.randi ki chudai hindi sex storymaa ki sexy story in hindialia bhatt ko chodalund chut ki story in hindikamaveri comchachi ki chudai photofree sex stories in hindi fontdesi zavazavinepalan ki chutSaas aur beti ki chudai khanishadi ki raat ki chudaibadi behan ki gand marichudai ki real storyhindi bahan chudai storychudai ki chachi kisasur bahu ki chudai storynayi kahani chudai kiland choot kahanilondiya ki chudaiबुढी नानी की ढीली चुतnew sexy chudaimeri pyas bujhaoboor chodsexy kahani downloadfree antarvasna kahanichudai aunty ki kahanihindi desi bpmera pehla sexsasur se chudai storygroup hindi sex storydesi aunty ki chudai ki storyअन्तर्वासना