गाँव की लड़की के साथ खेत में ढिंक्का चिका

Gaanv ki ladki ke sath khet me dhinka chika:

हाय दोस्तों मेरा नाम है बंटी और मैं कानपूर का रहने वाला हूँ | मेरी उम्र 25 साल है | मेरा कद 5 फीट 7 इंच है और रंग गोरा है और मैंने बहुत लोगों से सुना है कि मैं दिखने में बहुत अच्छा हूँ | मैंने कई बार लड़कियों से खुद के बारे में तारीफें सुनी हैं और बहुत सी लड़कियों ने मुझे प्रोपोस भी किया है और मैंने कई लड़कियों को पटाया भी है | अब मैं लड़कियों के बारे में बहुत कुछ जानने लगा हूँ और लड़कियों के इशारे बहुत अच्छे से समझता हूँ | मैं बहुत से लड़कों के लव गुरु भी हूँ और मैंने उनको लड़कियां पटवा के भी दी है | ये तो हो गयी मेरी बात अब मैं आपको लोगों को अपनी कहानी बताता हूँ जिसमें मैंने गाँव में चुदाई की थी |

मेरे पापा तो कानपूर के ही रहने वाले हैं लेकिन मेरी मम्मी गाँव की हैं और एक बार मेरे मामा की शादी में मुझे गाँव जाना पड़ा | मेरा जाने का बिलकुल भी मन नहीं था फिर भी मम्मी मुझे ज़बरदस्ती ले गयी | मैं गाँव पहुंचा और नानी के घर चला गया | मेरे नाना गाँव के सरपंच हैं और उनका घर बहुत बड़ा है और पुरे गाँव में बहुत इज्ज़त है | नाना के घर में मुझे कोई कमी नहीं थी लेकिन एक दिक्कत वहां लाइट बार बार चली जाती थी | एक बार रात को लाइट गोल हो गई तो मैं बाहर घुमने निकल पड़ा | घूमते घूमते मैं थोडा आगे निकल गया और आगे एक चाय समोसे की दूकान थी | वहां पर एक मोटे से अंकल बैठे थे उन्होंने मुझे आवाज़ लगाई और मुझे पास बुला के पूछा तुम कौन हो ? तो मैंने अपने बारे में बताया तो उन्होंने ने कहा अच्छा सरपंच जी के नाती हो आओ बैठो बेटा |

तभी अन्दर से लड़की आई वो दिखने में बहुत क्यूट सी लग रही थी उसने मेरी तरफ देखा और एक टक देखती रही | फिर उसके अंकल ने आवाज़ लगाई और कहा ये मेरी बेटी है सरोज तो मैंने उसको देखा और कहा हाय तो उसने अपना सिर झुकाया और अन्दर चली गयी | अंकल ने मुझे चाय दी और मैं बैठकर चाय पीने लगा और मैंने ये नोटिस किया कि वो लड़की मुझे अन्दर से छुपकर मुझे देख रही थी | मैं समझ गया ये फासी मेरे से और मैंने चाय पी और पैसे देने लगा तो उन्होंने पैसे नहीं लिया | अब मैं उससे बात करने का मौका ढूंढ रहा था तो अगले दिन घर में दावत थी और उसे भी आना था | तो मैंने सारा प्लान बना लिया और जैसे ही वो आई मैंने उसको देखा और उनसे शर्म से नज़रें झुका ली और जाने लगी |

तो मैं उसके पास गया और कहा अच्छी लग रही हो सरोज वो शर्माती रही और मैंने कहा अच्छा मैं बाहर हूँ आओ तुमसे बात करनी है | मैं बाहर चला गया और दरवाज़े पे नज़र लगाए खड़ा रहा कि कब वो आएगी | वो लगभग 5 मिनिट बाद बाहर आई और यहाँ वहां देखने लगी तो मैंने आवाज़ लगाई और उसको अपने पास बुलाया और उससे बात करने लगा और उसकी तारीफ भी | वो बहुत शर्मा रही थी लेकिन खुश भी थी | लेकिन ये गाँव यहाँ पर अगर कोई हमें ऐसे देख लेता तो आफत आ जाती इसलिए मैंने उससे ज्यादा बात नहीं की और उससे थोड़ी बहुत करके चला गया |

वहन पर मुझे एक हफ्ते तक ही रुकना था और मुझे जो भी करना था इन्ही सात दिनों में करना था | तो मुझे बहुत जल्दी मची थी इसलिए मैं रोज़ उसकी दूकान के सामने घूमता रहता था और जब उसके पापा चले जाते और वो आके दूकान पर बैठती थी तो मैं पहुँच जाता और उससे बातें करता और खाता भी जाता लेकिन वो मुझसे पैसे नहीं लेती थी | मेरे जाने के बस तीन दिन बचे थे और उस दिन मैं उसकी दूकान गया और उससे कहा सरोज मैं तुमसे बहुत प्यार करता हूँ और वो शर्माके अन्दर चली गयी | फिर मैं अगले दिन पहुंचा और वो बहुत देर तक बाहर ही नहीं आई तो मैं उसकी दूकान पर गया और बैठके अंकल से बातें करने लगा और बातों बातों में मैंने पूछा आपकी बेटी नहीं दिख रही तो उन्होंने कहा बेटा वो खेत गयी है |

फिर मैंने उनसे कहा मैंने कभी किसी को खेती करते हुए नहीं देखा | तो उन्होंने कहा अरे बेटा इसमें कौन सी बड़ी बात है और उन्होंने मुझे खेत का रास्ता बताया और मैं लापक्के खेत पहुँच गया | वो खेत में सब्जी तोड़ रही थी और कसम से दोस्तों वो बहुत सैक्सी लग रही थी मन कर रहा था वहीँ चोद दूँ लेकिन आसपास और भी लोग थे | फिर उसने मुझे देखा और मेरे पास आकर कहा यहाँ कर रहे हो ? कोई देख लेगा | तो मैंने कहा तुम्हारा जवाब नहीं मिला | तो उसने अपनी आँखें झुका ली और मैंने कहा अब मिल गया | फिर मैंने उससे कहा यहाँ कोई ऐसी जगह नहीं है जहाँ हम बैठके आराम से बात कर सकें और कोई देख भी ना पाए | वो मुझे खेत के बीच में एक जगह पर लेकर गयी और वहां आसपास पेड़ ही पेड़ थे इसलिए कोई भी हमें नहीं देख सकता था | फिर हम दोनों ने आराम से बहुत बातें की और घर निकल गए |

हम अगले दिन भी वहां गए और उस दिन मैंने उसको किस किया वो पहले मान नहीं रही थी लेकिन मैंने थोडा फ़ोर्स किया तो मान गई | उसके होंठ बहुत प्यारे थे एक गुलाबी और रसीले | अब मेरे जाने के लिए सिर्फ दिन बचा था तो मैंने उससे कहा की कल हमें यहाँ मिलना है वरना शायद फिर कभी ना मिल पायें | तो मैं वहां पहुंचा और देखा कि वो भी वहां बैठी थी और जैसी ही उसने मुझे देखा वो आके मेरे गले लग गयी और रोने लगी और कहने लगी तुम चले जाओगे तो मेरा क्या होगा ? तो मैंने उसको चुप कराया और उसके होंठों को चूमने लगा और वो भी मुझे किस करने लगी | इस बार किस करते करते वो मेरे ऊपर चढ़ी जा रही थी जबकि हर बार उलटा होता था |

फिर मैंने उसके दूध पर हाँथ रखा और वो रुक गयी और कहने लगी अभी नहीं तो मैंने कहा जानू हो सकता मैं कल नहीं रहूँ इसलिए मिलन आज ही हो जाने दो | तो उसने कहा लेकिन तो मैंने उसे रोक दिया और कहा आज मुझे मत रोको और मैंने उसके दूध दबाना शुरू कर दिए | फिर मैंने उसका कुर्ता उतार दिया और उसकी ब्रा खोलने लगा तो उसने कहा कुछ होगा तो नहीं ? तो मैंने कहा मैं हूँ ना | फिर मैंने उसकी ब्रा खोल दी और उसके दूध चूसने लगा | मैं उसका एक दूध चूस रहा था और एक दूध के निप्पल खींच रहा था और वो उह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह कर रही थी | फिर मैंने अपना लंड बाहर निकाला और कहा चूसो इसे तो उसने कहा मुझे नहीं आता ये सब तो मैंने कहा देखो तुम्हें सिर्फ इसको चुसना है जैसे आइसक्रीम होती है वैसे ही तो उसने धीरे से मेरे लंड को अपने होंठों से लगाया और धीरे धीरे चूसने लगी | मुझे बहुत मज़ा आया और मेरा निकलने को हुआ और मैंने वहीँ एक किनारे मुट्ठ गिरा दिया | उसने कहा ये क्या हुआ तो मैंने कहा कुछ नहीं और उसकी सलवार खोलने लगा |

मैंने उसकी सलवार और पैंटी उतारी और देखा कि उसकी चूत में बहुत बाल है इसलिए मैंने उसकी चूत ना चाटने का फैसला किया लेकिन उसकी चूत में उंगली डालने लगा | उसकी चूत वर्जिन थी इसलिए मैंने उसकी चूत में ठीक से ऊँगली भी नहीं की और अपना लंड अन्दर घुसाने लगा | मेरा लैंड तब तक खड़ा हो चूका था और जैसे ही मैंने उसकी चूत में लंड डाला तो पहले तो अन्दर नहीं गया लेकिन जब मैंने झटके से अन्दर किया तो वो रोने लगी और कहने अलगी बहुत दर्द हो रहा है मत करो और उसकी चूत से खून भी आने लगा | लेकिन मैं उसकी चूत में लंड बाहर करता रहा और वो आह्ह्हह्ह अह्ह्ह्हह्ह अह्ह्ह्हह्ह उह्ह्हह्ह ऊह्ह्ह्हह करती रही | फिर थोड़ी देर में उसका दर्द कम हुआ तो उसने आवाज़ करना कम कर दिया और मैंने उसको चोदने की स्पीड बढ़ा दी |

मैं उसको इसी तरह चोद रहा था मुझे कुछ आवाज़ लगी तो मैंने उसका मुंह बंद कर दिया और चोदता रहा लेकिन वहां कोई नहीं आया और मैं उसको चोदता रहा | हमने लगभग 20 मिनिट और चुदाई की और मेरा फिर से निकलने को हुआ तो मैंने अपना लंड बाहर निकाला और वहीँ किनारे जाके मुट्ठ झड़ा दिया | फिर मैं जाके उसके बाजू में लेट गया और उसने कहा पहले कभी इतना मज़ा नहीं आया | मैंने उसका हाँथ अपने लंड पे रखा और कहा हिलाती रहो | थोड़ी देर बाद मेरा लंड फिर खड़ा हो गया और मैंने उसको एक बार और चोदा और फिर हम दोनों घर चले गए | फिर उसके बाद मैं उस गाँव कभी नहीं गया लेकिन मुझे आज भी उसकी टाइट चूत याद है |


Comments are closed.



Online porn video at mobile phone


laode chut boor ki ghamasan chudai kahani hindi memarathi sax storesexy khaniya in hindishaurti ko blackmail krke choda khanitarnny samuhik chudai pornmarathi shemel sex story ewantarvasnaParish me cudaiCodom faad chudai ki hindi sex storiesपड़ौसन चाची की चुmeri aunty ki chutसेकसी कहानी चुत चुदाई की दोसत की घरवाली का नाम पूजाantervasan teacherchoti bahen ko chod kr pregnent kiya sex storysexychutkikahaniबीवी की कार मैकेनिक ने की चुदाई की कहानियांhindi sexi story commummy chudane ke liye aunti ke ppass jaati sex story gram choot ki dewani kamuktamuskan ko chodananad ki pahli chudai ki trainingXxx kahani maa ko chouda daku neantarvasna google searchchudai batesex ki bhukhgand marne kiindian gay sax xxx marthi kahaneyasex history in hindiaunty dexchudai ki kahani hotbaap ne beti ki gand maricaca badme mayne codakar ante ke cut sujadi cudai kahanemummy ki chudai bete ke sathrandi ki chut marighar ki sex storymast hindi sex storydesi mom sex storiesmaa ko choda story in hindihindisexykgoogle hindi sexhindi desi sex khaniyamaa ki chudai ki bete negarma garam bhabhibipasha ko chodahot and sexy stories in hindi fontbhabhi ko choda hindi kahanisexyhindi story for madambaap ne mujhe chodabehan ki malishbahan ki chudai hindi mehindisexhindi kahani manjhli bhabhi ke boor ki khachakhach chudaiतालाब मे लडकियो की नहाने की XXX कहानियाhindi language me chudai ki kahaniindian sex stories in hindiगाव का मन्नु sexy desi hindi kahani comSasu ma ne dud pila kar chid waya sex storyNepali saas ki chudai train me nokar ke saath download meri burPunjabi bhabhi with two devier group sexchodne ki kahani with photo in hindiNEW CHUDAI KAHANI ANTRAUASNA.combhabhi chodna shikhai sardi may story chota sebhabhi ki chudai kahani in hindiख़ुशी से छुड़वाया हिंदी स्टोरीsex story gali hindi preetochudai kahanisabr.ke.sath.dhire.dhire.kamuktawww kamukta story.comदिल्दी चोधाईsex ki story in hindixxx नया वीडियो दुशराantarvasnawww badmasty comsex story hindidehati bhai bahan ma beta maosi bhak bap beti xxxreal sex marathi katta page on 12Sxe kahani ghr kididi ki chutsister ko chodanepali ladki ki chutTran ma nangi biwi ki chudaiजवन Xxx भेजना वह हमारे मोबाईल मे चलना चाहिऐ और कोई नहीँ randiyon ki chudai ki kahaniबुरruksana ki chutbahan ki chudai ki kahani in hindifriend ko chodabadi didi ki chudai kiबस एक झलक चूत कीbhabhi ki chudai ki new storyXXX Hindi kahani pura.nars Bhabhikamukata . comankita ki seal todi storyindian blackmail sex stories