होली में फट गई चोली

मुझे त्योहारों में बहुत मज़ा आता है, खास तौर से होली में.

पर कुछ चीजे त्योहारों में गडबड है. जैसे मेरे मायके में मेरी मम्मी और उनसे भी बढ़के छोटी बहने.
कह रही थी कि मैं अपनी पहली होली मायके में मनाऊँ. वैसे मेरी बहनों की असली दिलचस्पी तो अपने जीजा जी के साथ होली खेलने में थी. परन्तु मेरे ससुराल के लोग कह रहे थे कि बहु की पहली होली ससुराल में ही होनी चाहिये.

मैं बड़ी दुविधा में थी. पर त्योहारों में गडबड से कई बार परेशानियां सुलझ भी जाती है. और ऐसा हुआ भी, इस बार होली २ दिन पड़ी. (दरअसल हिन्दुओं के सारे त्यौहार हिन्दी महीनों (जैसे- चैत्र, वैशाख….आदि) से मनाए जाते है और हिन्दी महीने तारीख से नही बल्कि तिथियों से चलते है. कई बार एक ही दिन और एक ही तारीख को दो तिथि मिल जाती है या एक ही तिथि दो दिनों तक रहती है. इस बार भी कुछ ऐसा ही हुआ.)

मेरी ससुराल में 14 मार्च को और

मायके में 15 को होली मनाई जानी थी.

मेरे मायके में जबर्दस्त होली होती है और वो भी दो दिन. तय हुआ कि मेरे घर से कोई आ के मुझे होली वाले दिन ले जाए और ‘ये’ होली के अगले दिन सुबह पहुँच जायेंगे. मेरे मायके में तो मेरी दो छोटी बहनों नमिता और श्वेता के सिवाय कोई था नहीं. मम्मी ने फिर ये प्लान बनाया कि मेरा ममेरा भाई, विक्रम, जो 11वी में पढ़ता था, वही होली के एक दिन पहले आ के ले जायेगा.

“विक्रम की चुन्नी” मेरी ननद सपना ने छेड़ा.

वैसे बात उसकी सही थी. वह बहुत कोमल, खूब गोरा, लड़कियों की तरह शर्मीला, बस यु समझ लीजिए कि जब से वो class 8 में पहुँचा, लड़के उसके पीछे पड़े रहते थे. यूं कहिये कि ‘नमकीन’ और highschool में उसकी टाइटिल थी, “है शुक्र कि तू है लड़का”, पर मैंने भी सपना को जवाब दिया, “अरे आएगा तो खोल के देख लेना, क्या है अंदर हिम्मत हो तो…”

“हाँ, पता चल जायेगा कि नुन्नी है या लंड(penis)” मेरी जेठानी ने मेरा साथ दिया.

“अरे भाभी उसका तो मुंगफली जैसा होगा, उससे क्या होगा हमारा..???” मेरी बड़ी ननद ने चिढ़ाया.

“अरे मूंगफली है या केला..??? ये तो पकड़ोगी तो पता चलेगा. पर मुझे अच्छी तरह मालूम है कि तुम लोगों ने मुझे ले जाने के लिये उसे बुलाने की शर्त इसीलिये रखी है कि तुम लोग उससे मज़ा लेना चाहती हो.” हँसते हुए मैं बोली.

“भाभी उससे मज़ा तो लोग लेना चाहते है, पर हम या कोई और ये तो होली में ही पता चलेगा. आपको अब तक तो पता चल ही गया होगा कि यहाँ के लोग पिछवाड़े के कितने शौक़ीन होते है..???” मेरी बड़ी ननद रानू जो शादी-शुदा थी, खूब मुह-फट्ट थी और खुल के मजाक करती थी.

बात उसकी सही थी.

मैं Flash-Back में चली गई…………………..

सुहागरात के 4-5 दिन के अंदर ही, मेरे पिछवाड़े की शुरुआत तो उन्होंने दो दिन के अंदर ही कर दी थी.
मुझे अब तक याद है, उस दिन मैंने सलवार-सूट पहन रखा था, जो थोड़ा Tight था और मेरे मम्मे(boobs) और नितम्ब खूब उभर के दिख रहे थे. रानू ने मेरे चूतडों पे चिकौटी काटते चिढ़ाया, “भाभी लगता है आपके पिछवाड़े में काफी खुजली मच रही है….? आज आपकी गाण्ड बचने वाली नहीं है, अगर आपको इन कपड़ो में भैया ने देख लिया तो…”
“अरे तो डरती हूँ क्या तुम्हारे भैया से..??? जब से आई हूँ लगातार तो चालू रहते है, बाकि और कुछ तो अब बचा नहीं…… ये भी कब तक बचेगी..???” चूतडों को मटका के मैंने जवाब दिया.
और तब तक ‘वो’ भी आ गए. उन्होंने एक हाथ से खूब कस के मेरे चूतडों को दबोच लिया और उनकी एक उंगली मेरे कसी सलवार में गाण्ड के Crack में घुस गई. उनसे बचने के लिये मैं रजाई में घुस गई अपनी सास के बगल में…..
‘वह’ भी रजाई में मेरी बगल में घुस के बैठ गए और अपना एक हाथ मेरे कंधे पे रख दिया. ‘उनकी’ बगल में मेरी जेठानी और छोटी ननद बैठी थी.
छेड़-छाड़ सिर्फ कोई ‘उनकी’ जागीर तो थी नहीं..??? सासू के बगल में मैं थोड़ा safe भी महसूस कर रही थी और रजाई के अंदर हाथ भी थोड़ा bold हो जाता है. मैंने पजामे के ऊपर हाथ रखा तो उनका खुटा पूरी तरह खड़ा था. मैंने शरारत से उसे हल्के से दबा दिया और उनकी ओर मुस्कुरा के देखा.
बेचारे…. चाह के भी….. अब मैंने और Bold हो के हाथ उनके पजामे में डाल के सुपाड़े को खोल दिया. पूरी तरह फूला और गरम था. उसे सहलाते-सहलाते मैंने अपने लंबे नाख़ून से उनके pi hole को छेड़ दिया. जोश में आके उन्होंने मेरे कबूतर(Boobs) कस के दबा दिए.
उनके चेहरे से उत्तेजना साफ़ झलक रही थी. वह उठ के बगल के कमरे में चले गए जो मेरी छोटी ननद का Study Room था. बड़ी मुश्किल से मेरी ननद और जेठानी ने अपनी मुस्कान दबायी.
“जाइये-जाइये भाभी, अभी आपका बुलावा आ रहा होगा.” शैतानी से मेरी छोटी ननद बोली.

(TBC)…


Comments are closed.



Online porn video at mobile phone


desi chudai hindi moviesex story with bhabimaa or bete ki chudai kahanichut aurat kimaa ki chudai sex kahanipunjabi ladki ki chootchut ki raniharyanvi chudaichut kese choderaat ko chut maribuwa ki gand mariammi ki Salwar me chedchut dikhaoठंडी मे sexystory hindu ladki ko chodahindi maa bete ki chudai ki kahaniantarvasna bhai behan chudaidevar ne zabardasti chodachudai ki mast kahanidesi sex stories pdfhiroin ki chudainipple chusnarajasthani sex storychudai kaantarvasna commeri pyari didipunjabi fuck storiesAnterwasna hindi train mom son sex storis hindimaa bete ki chudai hindi kahanijawan ladki ki chutcudai kahani hindiporn stories in hindi languagenew marathi sexstoryमा और चाची सेकस कहाणnokrani ke sath sexMaa ka mangalsutra lund pe bandh ke chodaladki ki chut chatnaमैं शादीशुदा हूं mera premi lover nangi sexi chut ki chudairajni ki chutsaheli ki chutmami ko choda videoantarvasna com maa bahan chachi bhabhi safar mechachi ki gand chudaisaxkhanitatti wali sex story in hindi fontdevar bhabhi ki sex storydus saal ki ladki ko chodadesi maa beta chudaiincest stories indianbhabhi ki sexy storydevar bhabhi new story in hindisuhagrat chut photoxxxstory hindihindisxsbhai ne dosto ke sath chodaनंदोई से गरम होली की कहानियांjija sali storybhaiya bhabhi ki chudaisavita bhabhi ki desi chudaikutiya sex videorekha ki chootgoa me samuhik chodaidost ki bahanlund ke prakarsex story in the hindiboy ne boy ko chodahot kathalusagi chachi ki chudaimarathi sexy storebhabhi ki chut mari12वी कक्षा की लड़की को कैसे पटाये कहानीjeth ji ne chodabhabhi ki gand chudai storygalti se chud gaichut land ki kahani in hindichoot in lundsexy hindi chudai ki kahaninangi kahaninew sexy marathi storynepali ladki ki chutpunjaban ki chutsurekha fuckinghindi best chudai storykahani hindi chudai kimama ki chutअधूरी चुदाईbiwi ki gaand marimami ki beti ko chodasexy fucking hindi storysuhagrat ki pahali chudailadki ki gand mari storybhabhi ki choot maribest hindi chudai storysapna dancer sexysax storiskote par chudai xxx kshsnimotai land dai chut vhudai hindi vifeos