हुआ एहसास मुझे सेक्स का

Hua ehsas mujhe sex ka:

desi porn kahani

मेरा नाम सरिता है और मेरी उम्र 32 वर्ष है। मेरी शादी को काफी वर्ष हो चुके हैं लेकिन मेरे पति मेरी भावनाओं को कभी भी नहीं समझते हैं और वह अपने काम में ही व्यस्त रहो रहते हैं। वह सिर्फ अपने काम से ही प्यार करते हैं और मुझसे तो वह बिल्कुल भी प्यार नहीं करते। वह मुझे बहुत ज्यादा खुश रखते हैं, परंतु फिर भी वह इस बात का ध्यान नहीं रख पाते कि मुझे क्या चीज पसंद है और क्या नहीं। मेरे पति का नाम प्रभाकर है वह एक मल्टीनेशनल कंपनी में मैनेजर हैं। जब भी हम लोग कहीं बाहर घूमने जाते हैं तो वह मुझे बहुत बड़े-बड़े रेस्टोरेंट में लेकर जाते हैं। परंतु जब भी मैं अपने आसपास किसी नए कपल को देखती हूं तो वह आपस मे एक दूसरे से बड़े ही प्यार से रहते है। और वह लोग बहुत ही हंस कर बात कर रहे होते हैं परंतु मेरे पति जब भी मेरे साथ होते हैं तो ना तो वह मुझसे बात करते हैं और ना ही मेरी किसी बात पर ध्यान देते हैं। वह सिर्फ अपने फोन पर ही लगे रहते हैं जिसकी वजह से मुझे बहुत परेशानी होती है।

मैंने उनसे कई बार इस बारे में बात की, कि तुम मुझसे अच्छे से बर्ताव नहीं करते हो। वो कहने लगे तुम्हारे लिए मैं सब चीज की व्यवस्था पहले से ही करके रखता हूं। तुम्हें जब भी जो चीज चाहिए मैं उसे तुम्हारे बोलने से पहले ही ले आता हूं। मैंने उन्हें कहा कि सिर्फ मेरे बोलने से पहले लाने का ही मतलब नहीं होता। कुछ चीजें और भी होती हैं जो कि अंदर से हमें फीलिंग आती है। परंतु तुम उन चीजों को बिल्कुल भी नहीं समझते हो और जब हम लोग साथ में बैठे होते हैं तो मुझे भी एक अच्छा समय चाहिए। वह मुझसे झगड़ा करने लगे और कहने लगे कि तुम्हें तो सिर्फ झगड़ा ही करना अच्छा लगता है। तुम कभी भी मेरी भावनाओं को नहीं समझती और मुझसे झगड़ा करती रहती हो। मैंने भी उनसे कहा कि मैं तो तुम्हारी भावनाओं को बहुत ही अच्छे से समझती हूं। परंतु तुम मेरी भावनाओं को बिल्कुल भी नहीं समझते हो। हम दोनों अब बात नहीं कर रहे थे और काफी दिनों तक हमने आपस में बात नहीं की। मैंने भी सोचा अब मैं उनसे कभी बात नहीं करने वाली लेकिन उन्होंने एक दिन मुझसे बात की और मेरे लिए एक बहुत ही सुंदर सा गिफ्ट ले आए।

मैंने वह गिफ्ट खोला तो मैं बहुत खुश हुई और मुझे लगा की शायद अब वह बदल गए। वह मुझे अपने साथ अपने दोस्त के घर पर ले गए और कहने लगे कि आज मेरे दोस्त विवेक का बर्थडे है। विवेक उनके ऑफिस में ही जॉब करता है और वह उनका बहुत ही अच्छा दोस्त है। जब उन्होंने विवेक से मुझे मिलाया तो मैं उससे मिली। उसकी अभी शादी नहीं हुई थी लेकिन वह बहुत ही खुश रहने वाला व्यक्ति प्रतीत हो रहा था और वह सबके साथ बहुत ही अच्छे से बात कर रहा था। सब के साथ बहुत इंजॉय कर रहा था। मुझे भी वह बहुत अच्छा लगा। वह जब मेरे पास आकर बैठा तो वह मुझे कहने लगा कि आप गुमसुम की अकेले क्यों बैठी हैं। मैंने उसे बताया कि नहीं मैं अकेले ही ठीक हूं। मेरे पति अब भी अपने काम में ही लगे हुए थे। मैं विवेक के साथ डांस करने लगी और मैं उसके साथ बहुत देर तक डांस करती रही। मुझे भी बहुत अच्छा लग रहा था जब मैं उसके साथ डांस कर रही थी। उसने मेरे हाथों को पकड़ा हुआ था और मेरी कमर पर उसने अपने हाथों को रखा हुआ था और वह बहुत ही अच्छे से मेरे साथ डांस कर रहा था। जिससे कि मुझे भी ऐसा लग रहा था कि यह कितना अच्छा डांस करता है। मैं यही चीज अपने पति प्रभाकर से चाहती थी। परंतु वह तो मेरी तरफ ध्यान नहीं देते थे। विवेक और मैं बातें कर रहे थे और मेरे बच्चे कोने में बैठे हुए थे। मैंने जब विवेक से यह बात कही कि क्या प्रभाकर ऑफिस में भी ऐसे ही बिजी रहते हैं। वह कहने लगा कि प्रभाकर को कुछ ज्यादा ही काम रहता है और वह बिल्कुल भी किसी को समय नहीं देता है। मैं भी इस बात से बहुत परेशान थी और मैंने विवेक से कहा कि प्रभाकर तो मुझे भी घर में बिल्कुल समय नहीं देते हैं और वह अपने काम में ही व्यस्त रहते हैं। जब मैंने यह बात कही तो वह कहने लगा कि जब भी मेरे पास टाइम होगा तो मैं आपको बहुत ही अच्छी जगह घुमाने ले चलूंगा। या जब भी आपके पास समय हो तो आप मेरे घर पर आ सकती हैं। मैं उससे बात कर के बहुत खुश थी और जब मैं घर गई तो मैं बहुत ही खुश थी। प्रभाकर मुझे कहने लगा की आज तुम कुछ ज्यादा ही खुश नजर आ रही हो। मैंने उसे बताया कि तुम्हारा दोस्त कितना अच्छा है और एक तुम हो जो बिल्कुल भी मुझसे अच्छे से बात नहीं करते हो और अपने काम में ही बिजी रहते हो।

एक दिन मेरा झगड़ा प्रभाकर से हो गया और मैं गुस्से में विवेक के पास चली गई। मैंने उसे फोन किया और वह मुझे मेरे घर पर लेने आया। जब मैं उसके घर गई तो मैंने उससे कहा कि मेरा प्रभाकर से झगड़ा हो चुका है। वह कहने लगा कि तुम लोग झगड़ा मत किया करो। मैंने उसे कहा झगड़ा करने की मुझे आदत नहीं है लेकिन अब वह मुझसे झगड़ा कर लेता है तो मैं क्या करूं। वह ऐसे ही मेरे बगल में बैठा हुआ था उसने एक छोटा सा नेकर पहना हुआ था। मैं उसकी गोद में जाकर बैठ गई और रोने लगी अब उसका लंड खड़ा हो गया जो कि मेरी गांड से टकरा रहा था। अब विवेक को अच्छा लगने लगा और उसने मेरे होठों को चूसना शुरू कर दिया और मेरे स्तनों को दबाने लगा। मुझे बहुत ही अच्छा लग रहा था जब वह मेरे स्तनों को दबा रहा था और मेरे होठों को किस कर रहा था। उसने धीरे से मेरे कपड़ों को खोल दिया और मैं उसके सामने नंगी हो गई। अब मैंने भी उसके लंड को बाहर निकालते हुए हिलाना शुरू कर दिया और उसे अपने मुंह के अंदर समा लिया।

मैंने उसे अपने गले के अंदर तक लेते हुए चूसना शुरू किया। मुझे बहुत ही अच्छा लग रहा था जब मैं उसके लंड को अपने गले तक ले रही थी। अब उसने मुझे अपने बिस्तर में लेटा दिया और मेरे दोनों पैरों को खोलते हुए उसने मेरी चूत को चाटना शुरू कर दिया और वह बहुत ही अच्छे से मेरे चूत को चाट रहा था। मुझे ऐसा लग रहा था जैसे मेरे चूत से पानी निकल रहा है और वह सारे पानी को चाट लेता। वह बहुत ही अच्छे से मेरी चूत के पानी को चाट रहा था और उसे भी बहुत ही अच्छा लग रहा था। अब उसने मेरे दोनों पैरों को चौड़ा कर दिया और बड़े प्यार से अपने लंड को मेरी चूत मे घुसा दिया। जब उसने मेरी चूत मे अपने लंड को घुसाया तो मेरे अंदर की गर्मी निकलने लगी और मेरे अंदर ऐसा लगा जैसे कुछ करंट उत्पन्न हो गया हो। अब वह मुझे बड़ी तीव्र गति से धक्के दे रहा था और मैं अपने मुंह से मादक आवाज निकाल रही थी। वह मुझे बहुत ही अच्छे से चोद रहा था मुझे प्रभाकर ने ना जाने कब से चोदा नहीं था। विवेक का लंड बहुत ही मोटा और लंबा था मुझे तो इतना मजा कभी भी नहीं आया। जैसे ही वह मुझे धक्के देता तो मेरा शरीर पूरा हिलता और उसने तुरंत ही मेरे स्तनों को कसकर दबाना शुरु किया वह मेरे चूचो को अपने मुंह के अंदर बड़े ही प्यार से लेता जाता। मैं अब विवेक से कहने लगी कि तुम मुझे बहुत ही अच्छे से चोद रहे हो इतना अच्छे से प्रभाकर ने कभी भी मेरे साथ सेक्स नहीं किया और ना ही वह कभी मेरे साथ रोमांस करता है। अब वह बडे ही अच्छे से मेरे होठो को भी चूमने लगा वह इतना अच्छे से मेरे होठों का रसपान कर रहा था कि मेरी उत्तेजना और बढ़ने लगी।  मेरी उत्तेजना इतने अधिक हो गई कि मेरा झड़ने वाला था। जब मेरा झड़ा तो मैंने अपने दोनों पैरों को मिलाते हुऐ विवेक को जकड़ लिया और वह भी समझ चुका था कि मैं झड़ चुकी हूं इसलिए विवेक ने भी मुझे बड़ी तेज गति से चोदने लगा। वह इतनी तेज तेज झटके मारने लगा कि कुछ समय के बाद उसका वीर्य पतन हो गया और उसका वीर्य मेरी योनि में बड़ी तीव्रता से गया। मुझे बहुत ही शांति महसूस हुई और मैं वहां से अपने घर आ गई। अब जब भी मेरा मन होता तो मैं विवेक को फोन कर देती और उससे अपनी चूत मरवा देती थी। वह मेरी चूत की सारी खुजली को मिटा देता।


Comments are closed.



Online porn video at mobile phone


बेटी फिरोज चाचा चुदाई कहानीmaa bete ki chudai ki storisex storyhindi antarvasna videosmarij ki gand mari kahanichudai kahani chachi kiBabi ko choda land dikakr ptayachudai ke faydesoteli mausi ki choot storymaa bete ki chudai sex storybehan ki chut ki kahanihindi sexy story.baap beti ki sex storyAjibchudaiswsur jee ki jawani hindi sex stori bhag toomastram sex story comkahani chudai kशशि आटी कि सेकसी कहानीoffice sex story meri biwi ko jabarjast oske boss ne choda huwa story kaamuktarajasthan ki ladki ki chudaisasur ne khet me choda.comanjaan ladki ki chudaichudai saasफौजी के साथ चुदाई का मजा हिन्दी सेक्स कहानीantarvasna hdमराठी सेस्क कहाणीससुर सुनbhabhi ko zabardasti chodaमारवाडी छिनाल लंड कि चुत सेक्स कथाbiwi ko dost se chudwayabaap ne chodaगर्लफ्रेंड की रंडी सहेली को चोदाchudai ke mast kahanidesi sex storiessamuhikchudaibahanantarvasnachudai maa ki kahanisexkahani in hindibeti ki chudaiwww.didi li chdai sory jabardastihindi sex story 2017zabardasti ki chudai videohindi sex story latestSex story pyari mummy aur munna bhai part 4padosi ko chodahindi sex onlineचाचि ने तिन से चुदिtharki Baap XX video Hindi language HDmaa bete se chudaikashmiri chootsexi anty लडकी बृआ के फोटो बृआanty majak me antervasna kahanibhabi sex story in hindixxx vi desi daunlod new mp3barsat me chudaimaa beti ki chudai kahaniantarvasna padosan ki chudaipapa beti chudaima ki chudai porn dekhte hu pakr lya punjabi sex storychudai kahani bete ne maa ne papa se pucha condom kaise pahnte haichodne wali kahanimaa bete se chudaimeri biwi ne chup k se teacher se chudwayananad.saas.hindi.sex.khanimeri chut chudai ki kahanibehan ki chudai kahani in hindiphoto ke sath chudaidesi choda chodi kahaninaukrani ke sath chudaidosto ne jabrjasti choda party me hinde sex storehindustani chootgand marane me larko ki iccha kayo karti habeti ko rakhel banayasex storydaya ki chutchudai storyparty me chudaichudai ki kahaniya hindi bhasa mexnxx hindi comek bholi bhali vidhava sheela ki chudaijm krchudai k khanichachi ne ghar bula ke chud chtdwyimadam ko chodaMASI andhere me chodadesi maal chudaisas and damad ka jabarjasti boor chodai sexi sexi video Hindi sex chut ki chudaibhabi ki chodai hindi storyदिल्ली में अच्छा से चोदा