पर्दे मे रहने दो भाग – ५

तीनो सहेलियां एक नंबर की चुदासी औरतें थी…और सबके पति बहुत अमीर थे….नीलू उन सबकी बॉस जैसी थी…सब उसी के पास आते थे.और उन लोगों के ग्रुप सेक्स की पार्टी हमेशा ही नीलू ही प्लान करती थी……..यह लोग काफी देर तक बैठे रहे और फिर अपने अपने घर चले गए……अब काकी और नीलू अकेले थे…..काकी ने इशारे में कहा की रानी अपने कमरे में है..और फिर उठ के वो बाथरूम की तरफ चल दी……..नीलू ने भी देर नहीं की और वो भी उसी तरफ चल दी….काकी ने अन्दर आते ही अपनी सारी को उपर करना शुरू किया और उसकी सारी पूरी उसकी कमर तक आ गयी….काकी की उम्र काफी है….करीब करीब ६० साल की है काकी लेकिन इस उम्र में भी वो खुद को बहुत सजा के रखती है..इस बात का इससे बड़ा सबूत और क्या होगा की एक घरेलु औरत जिसकी उम्र ६० साल की है उसकी चूत में एक भी बाल नहीं है…झांट एकदम साफ़ है…चिकनी और वो पूरा हिस्सा भी काला नहीं पड़ा हुआ है…मेरे जिन भाइयों को नहीं पता है उन्हें बता दूं की हम औरतों के उस कोमल हिस्से की बार बार शेविंग करने से वहां एक कालापन आ जाता है…इसलिए वहां से हेयर रिमूव करना ज्यादा फायदेमंद होता है…लेकिन रेजर का उपयोग ज्यादा आसन होता है…खैर….अगर आगे किसी औरत की चूत पर इस तरह का कालापन दिखे तो उसे गन्दी मत समझना..बल्कि वो लगातार बाल साफ़ करते रहने के कारण होता है……….हाँ तो काकी का वो नाजुक हिस्सा अभी भी उतना ही नाजुक था..उतना ही कोमल था….नीलू ने भी अपनी जीन्स नीचे केर दी थी और अपनी पेंटी भी सिरका दी थी…..काकी ने तो पेंटी पहनना ही कब का बंद कर दिया था…..दोनों ने अपनी अपनी टाँगे थोडा सा झुका ली और अपनी चूत के अन्दर दो दो ऊँगली डाल दिन……..लेकिन ऐसा वो लोग अपनी चूत में ऊँगली करने के लिए नहीं कर रहे थे..बल्कि अगले ही पल उन्होंने अपनी उँगलियाँ बाहर निकालनी शुरू केर दी..और इस बार उन दोनों की ही उँगलियों में फंसा हुआ कुछ उन दोनों की ही चूत से बाहर आ रहा था……….गरम मौसम में आप लोगों ने ककड़ी बिकते हुए देखि होगी…एक तो मोटा खीरा होता है और एक पतली ककड़ी होती है…वैसी ही एक एक ककड़ी इन दोनों ने अपनी अपनी चूत के अन्दर डाली हुई थी…करीब ४ इंच लम्बी और एक इंच मोती उस ककड़ी ने उनकी चूत में जरुर खूब घमासान मचाया होगा..क्योंकि जब वो ककड़ी चूत से बहार निकली तो उन दोनों के रस से एकदम भीगी हुई थी……..दोनों ने हौले हौले वो ककड़ी अपनी अपनी चूत से बाहर निकाली ताकि कहीं वो ककड़ी अन्दर ही ना टूट जाये…और फिर दोनों ने अपनी अपनी चूत की ककड़ी बदल ली…….
नीलू वो ककड़ी खा रही थी जो बहुत देर से काकी की चूत में थी और काकी वो ककड़ी खा रही थी जो बहुत देर से नीलू की चूत में थी……..
उधर दूसरी तरफ अब भानु और रानी भी थोडा थोडा बेचैन होने लगे थे…हालांकि अभी उनकी बेचैनी इतनी बड़ी नहीं हुई थी की उसके लिए वो कुछ करने की सोचते लेकिन जब चिंगारी जल जाये तो उसे आग बन्ने में ज्यादा देर नहीं लगाती..और दोनों के शरीर में चिंगारी तो जल ही चुकी थी……..एक रात भानु को नींद नहीं आ रही थी तो वो निकल कर छत पर आया….उसने सोचा था की कुछ देर यहाँ ठंडी हवा खायेगा फिर सोने चला जायेगा…….उसके लिए बिना सेक्स के इतने दिन रहना बड़ा मुश्किल था..उसे पता नहीं था की रानी पहले से ही छत पर थी….वो जैसे ही उपर आया उसके रानी को वहां पर टहलता हुआ पाया….रानी ने एक टी शर्ट और उसके नीचे छोटे से शॉर्ट्स पहने हुए थे..उसने ब्रा नहीं पहनी थी और पेंटी भी वो नहीं पहना कर्री थी रात में…..भानु भी वहां अपने टी शर्ट और शॉर्ट्स में ही आया था…..
भानु – यहाँ क्या कर रही है?
रानी – नींद नहीं आ रही थी सो थोड़ी देर के लिए उपर आ गयी..तुझे भी नहीं आ रही?
भानु – हाँ यार…..बड़ी बोरियत सी हो रही है..करने के लिए कुछ है नहीं यहाँ पर…
रानी – हाँ यार.वही तो…अभी हमें कुछ ही दिन हुए हैं यहाँ आये और मुझे तो लगता है की जैसे कितने सालों से मैंने कुछ किया ही नहीं है….
भानु – मेरा भी वही हाल है…
रानी – नीचे देख के आया था? सबा लोग सो गए?
भानु – नहीं.मम्मी के कमरे की लाइट जल रही थी शायद. थोड़ी थोड़ी रौशनी आ रही थी. मैंने ध्यान से देखा नहीं.
रानी – वो लोग भी रात में लेट से सोते हैं.
भानु – तू क्या कर रही थी अब तक?
रानी – सिस्टम पे एक मूवी पड़ी थी वही देख रही थी.उसमे भी बोर हो गयी..
भानु – कौन सी मूवी थी? दे न मुझे भी देखने को.
रानी – तेरे वाली नहीं थी.मेरे वाली मूवी थी. तेरे टाइप वाली मेरे पास नहीं है.
भानु – तू तो हर समय बस ताना ही मारा करती है.मैं कोई नार्मल वाली मूवी नहीं देख सकता क्या?
रानी – देखता होगा. मुझे नहीं पता.मैंने तो नहीं देखा तुझे नार्मल वाली मूवी देखते हुए.
भानु – तो तूने मुझे वो वाली मूवी देखते हुए भी तो नहीं देखा है कभी.
रानी – देखा है. कई बार तू सिस्टम चालू कर के सो जाया करता था अपने पुराने वाले फ्लैट में. कई बार मैंने तेरे रूम में आकर तुझे चादर ओढाई है और सिस्टम पैर मूवी बंद की है.
भानु – सच में?
रानी – हाँ . कई बार.
भानु – कभी बताया नहीं तूने.
रानी – इसमें क्या बताने वाली बात थी? मुझे लगा तो थोडा ओड फील करेगा सुन के की मैंने तुझे ऐसे देख लिया.इसलिए नहीं बताया…
भानु – हाँ सही किया…कभी कभी मुझे लगता है की हमारे बीच भाई बहन वाली कोई बात रह ही नहीं गयी है. तूने मुझे हर हाल में देख लिया. मैंने भी तुझे हर हालत में देखा है.
रानी – तूने मुझे कब देख लिया?
भानु – नहीं. देखा नहीं है.लेकिन सुना बहुत बार है…तुझे याद है तेरा वो सीनियर था न वो हरयाणवी जाट,,,,उसके साथ तो तेरा शोर इतना ज्यादा होता था की कई बार तो मैं तकिये की नीचे कान दबाने के सोने की कोशिश करता था फिर भी तेरी चीखें आती थी मेरे रूम तक….
रानी – ओ बाप रे….सच में ?
भानु – हाँ…मैं क्या पुरे पड़ोस वाले भी सुनते होंगे तेरी चीखों को तो..इतना जोर जोर से चीखता है क्या कोई?
रानी – तो मुझे मना करना चाहिए था न.कोई क्या सोचेगा मेरे बारे में?
भानु – मैंने क्या कह के मना करता ? मुझे भी लगा की तुझे बेकार में परेशानी होगी इसलिए नहीं कुछ कहा…
रानी – हाँ ठीक किया. लेकिन फिर भी लोग क्या सोचते होंगे? उन्हें तो यही पता था की फ्लैट में सिर्फ हम दोनों रहते हैं. तो उन्हें तो यह लगता होगा की वो चीखें हमारी हैं?
भानु – यह बात मुझे भी कई बार फील हुई की कहीं लोग ऐसा न सोचते हों…फिर मुझे लगा की अगर सोचते भी होंगे तो क्या करना हमें..दुनिया का दिमाग है. जो चाहे सोचे.हम किस किस को समझाते फिरेंगे की क्या बात है और क्या बात नहीं है…
रानी – लेकिन यार सच में सोचने वाली बात है……मुझे तो उन दिनों कभी इस बात का ख्याल ही नहीं आया…अब क्या करें?
भानु- अरे करना क्या है?अब तो हम यहाँ रहने वाले हैं. वहां के लोग हमारे बारे में क्या सोचते थे इस बात का क्या ख्याल करना…जाने दे.यह सब सोच के टेंसन न ले…..
रानी – हाँ यह भी ठीक है…….और तू सुना क्या प्लान है तेरा…..
भानु – किस बारे में?
रानी – अरे अब तक तो तूने अपना अगला शिकार खोज लिया होगा….बता तो दे की किसका नंबर लगने वाला है?
भानु – नहीं यार. अभी तो कोई नहीं खोजा…लेकिन तूने एक बात नोटिस की घर में..
रानी – कौन सी बात? बता?
भानु – घर इतना बड़ा है फिर भी इतना साफ सुथरा है लेकिन हमारे सामने घर का कोई भी स्टाफ अन्दर काम नहीं करता है. सब बस बहार के काम करते हैं…कुछ समझ नहीं आया की माजरा क्या है…
रानी – हर जगह तुझे कुछ काला ही दीखता है. माँ का मैनेजमेंट है.वो करवाती होंगी सबसे काम….लेकिन तू यह भी तो देख की घर कितना अच्छे से मेन्टेन किया हुआ हैं उन्होंने….
भानु – हाँ बात तो सही है. घर भी मेन्टेन है और खुद वो भी कितनी फिट हैं. मैं तो सोच रहा था की काकी कितनी फिट हैं याद..उनकी उम्र किनती होगी?
रानी – मेरे ख्याल से तो ६० की होंगी..क्यों?
भानु – यार तूने कहा देखा है किसी ६० साल की औरत को इतना फिट?
रानी – तू उनकी फिटनेस को देख रहा है? कमीने.
भानु – नहीं यार. मैं तो ऐसे ही कह रहा था….तू तो बेकार में नाराज हो रह है…
रानी – नाराज नहीं हो रही. बस तेरी टांग खीच रही थी…कह तो तू सच रहा है…दोनों औरतें हमारे घर की बहुत फिट हैं..यह तो दोनों मुझे भी मात दे देंगी फिटनेस के मामले में…..ओये यार कुछ कर न यार…ऐसे तो हम बोर हो जायेंगे.
भानु – तुझे कब से इतनी खुजली होने लगी?
रानी – क्यों मुझे क्यों न हो?
भानु – नहीं. पहले कभी इतना बेचैन देखा नहीं तुझे. तू तो हमेशा ही कण्ट्रोल में रहती है…
रानी – यार वहां इतने सरे आप्शन रहते हैं की उन्हें तद्पाने में मजा आता है..यहाँ तो कोई साला मुझे देखने वाला भी नहीं है..किसका कण्ट्रोल ख़राब कर के अपना कण्ट्रोल बनाये रखूं……कोई तो चाहिए न…
भानु – भगवन का शुक्र है…
रानी – मतलब?
भानु – मैं तो समझता था की तू इस सबसे बाहर हो गयी है और अब तुझे सेक्स वेक्स में कोई इंटरेस्ट नहीं है और तू साधू बन्ने वाली है…….अब जान के सांस आई की तू भी कम नहीं है. बस लोगों को जला जला के मजे लेती है…
रानी – हाँ तो तेरे जैसा हिसाब नहीं है मेरा की जहाँ भी मौका मिले वही मुंह मार दो……मैं तो खूब टाइम लगाती हूँ…..खैर..मुझे यह तो पता है की तुन्ने किसी न किसी को तो चुन ही लिया होगा…तू इतने दिन बिना प्लान बनाये रह ही नहीं सकता…
भानु – हा हा हा हा..मजाक बना रही है मेरा? मैं क्या वहशी हूँ?
रानी – इस मामले में तो तू है…..भूल गया इसके लिए क्या क्या पापड़ बेले हैं तूने और फिर तुझे बचाने के लिए क्या क्या पापड बेले हैं मैंने……चल अब बता भी दे..किसपे निशाना लगाने वाला है तू….
भानु – हाँ हाँ सब याद है.और सच में अभी तक किसी का नंबर नहीं लगाया है मैंने लेकिन कल से शुरू करने वाला हूँ…
रानी – क्या शुरू करने वाला है?
भानु – घर में हर जगह कैमरा लगा हुआ है..मैंने सर्वर खोज लिया है उसका और उसे अपने लैपटॉप से जोड़ लिया है..कल से घर की निगरानी करूँगा….घर की नौकरानियों पर नजर रखूँगा कल से…
रानी – हा हा हा हा मुझे पता था की तूने कुछ न कुछ तो इन्तेजाम कर ही लिया होगा अपने लिए…..चल कुछ अच्चा मिले तो मुझे भी दिखाना…..अब चलो नीचे….तू भी सो जा और मैं भी सो जाती हूँ….
दोनों उतर के नीचे आ गए…इस दौरान रानी के मन में एक बात चल रही थी..वो सोच रही थी की कहूँ या न कहूँ..और उसकी इस कह्मोशी को भानु ने
भानु – क्या बात है? कुछ कहना है?
रानी – हाँ..नहीं कुछ नहीं..
भानु – अरे बोल न क्या हुआ?
रानी – कोई मूवी है क्या?
भानु – मेरे टाइप वाली मूवी????
रानी – (हिचकते हुए) हाँ…
भानु – तो तू इतना सोच क्यों रही थी इसके लिए??? शर्म आ रही है??? ( भानु अब रानी के मजे ले रहा था.)
रानी –मत दे. रहने दे. नहीं चाहिए.
भानु – अरे अरे अरे…तू तो सच में शर्मा गयी..यार क्या हुआ तुझे??? हमारे बीच यह शर्म अच्छी नहीं लगती.चल कमरे में.देता हूँ. बहुत हैं मेरे पास….( वो रानी को हाथ से पकड़ के अपने कमरे में ले गया और रानी के मन में यह बात चल रही थी की शायद उसे भानु से मूवी के लिए नहीं कहना चाहिए था….)
भानु – आज तुझे भी जरुरत आ गयी न.मुझे तो बड़ा कहती थी की यह सब बेकार चीज है. उसमे असली मजा नहीं है.आज देखना यही नकली चीजें असली का मजा देंगी….
रानी – रहने दे मुझे नहीं देखनी.
भानु – ऐसे नखरे तो मत कर जैसे पहले कभी तूने देखि नहीं हो ये मूवी…..ओके मैं नहीं लेता और मजे तेरे…तू ये मेरा लैपटॉप ही ले जा…जो मन करे देख लेना..इस वाले फोल्डर में रखा है सब कुछ….
रानी उसके रूम से लैपटॉप ले के आ गयी….क्या करती उसे भी जोर की खुजली मची हुई थी…………


Comments are closed.



Online porn video at mobile phone


antarvasnasexstories comchut in hindi storyaunty chudai story in hindikhala ki chootgudiya ki chudaibehan ki jawanichudai kaise ki jati haiमा पापा खेलकर चुदाई कथाsister hindi sex storysex kahani chudai kilesbian chudai storyभैस मारवाडी लडका सेकसीharyana aunty sexsexi auntychut ki khujlichut land ki story hindimami ki chudai ki kahani hindidesi chut dikhaidehati ladki ka photodidi ki chuchikhub chodadesi maal ki chudaisex khaniya hindimaa ki chudai ki kahani newHindi kahani sexhindisex storiskamsutra story in hindiantarvasna 2000मेरी फाड़ दोगे kahaniएक लडका लडकी बाइक पर जा रहे कहानीchachi ki chudai hindi videomarathi sexi storehjndi sexy storyjor ki chudaichut ka mazadesi chut ki chudaibahan ki chut chatiसर ने की लडकी चुदाईmuskan fuckiss storieschuti ki aag ki havas hindi xxx kahanighar ki chudai kahanilatest desi chudai storiesindian aurat ko pati ka dost aur beta na choda holi chudai sex storiesfull sex story hindiantervisnasexkahani in hindinew 2019 porn story desi hindi sex storychudai dekhne ka mauka milagujrati fuck storysasur bahu sex story hindiwww desi stories comkhadi chuchihindi sexy stories hindi fontfree bhabhi ki chudaibhabhi gand chudaichodan kathachut lund chudaimaa ki chudai hindimaa aur beti ki chudai ki kahanihindi sex story bhaipunjab sex storyswati bhabhi ki chudaiopen sex story hindimarathi zavazavi storydidi ke sath sex storyकहानीpapasexyhttps://gooddayufa.ru/tag/%E0%A4%95%E0%A4%BE%E0%A4%AE%E0%A4%B8%E0%A5%82%E0%A4%A4%E0%A5%8D%E0%A4%B0/45 sal ke marathe bhae khat sex vaidochut ko chodobade lund se chudai videohindi maa chudai ki kahanibur chut landrishto me chudaichoot hi choot ki photokutiya ki chudaiमैं और मेरी प्यारी दीदी भाग – १bete se chudai storyफ्री हिंदी फोटो के साथ गन्दी स्टोरी इनpahli chudai comchudai kahani sali kidesi chudai story tag/talakshuda didi / school maidamदेसी चुदाई फोटोdesi suhagraat