अंकल के घर में भाभी की चुदाई

Uncle ke ghar mein bhabhi ki chudai:

Hindi bhabhi sex stories

हेल्लो दोस्तों मेरा नाम अरुण है और मेरी उम्र अब 20 साल है|मैं दिखने में काफी हैण्डसम हूँ और जिम भी जाता हूँ तोह मेरी बॉडी काफी अच्छी बना कर राखी है|मैं हरिद्वार मैं रहता हूँ| मेरे लंड का साइज़ काफी अच है और मैं इतना जनता हूँ की एक चूत की तड़प को मेरा लंड अच्छे से शांत कर सकता है|आज मैं आपके लिए एक कहानी ले कर आया हूँ जो की आपको ज्यादा पसंद आयेगी| पर अब मैं कहानी शुरू करने से पहले थोरा बहुत अपने बारे में भी बता देता हूँ|मैं आज जो ये कहानी ले कर आया हूँ वो आज से 4 साल पुराणी है| क्योकि ये स्टोरी मेरे स्कूल टाइम की है जब मैं सेक्स के बारे में इतना कुछ नही जनता था| पर हाँ मुझे जितना भी सेक्स की नॉलेज थी वो मेरे दोस्तों ने मुझे दी थी| मुझे पहले ये सब अच्छा नही लगता था पर दोस्तों के मुंह से सुन कर मुझ में भी थोरी बहुत इंटरेस्ट आने लग गया था|

मेरे दोस्तों की तोह गर्लफ्रेंड भी थी पर मेरा तब कोई गर्लफ्रेंड नही थी और तब मुझे इसका इतना पता भी नही था और न ही मुझे लड़कियों में कोई इंटरेस्ट था|पर हाँ मैंने दो या तीन बार मुठ जरुर मारी थी पर उसके बाद भी मुझे इन सबका कोई नशा नही हुआ था| अब दोस्तों आज मैं जो कहानी आपके लिए ले कर आये हूँ उसमे क्या कुछ हुआ| केसे हुआ वो सब आपको धीरे-धीरे पता चलेगा|तोह चलिए बिना कोई समय गवाए आपको अपनी कहानी पर ले कर चलता हूँ| ये बात तब की है जब मेरी ** क्लास ख़तम हो गयी थी और मैं अब आगे-1 में मेडिकल लेना चाहता था| पर मैं जिस स्कूल में करना चाहता था वो यहाँ नही था|वो वहां था जहा मेरे पापा का एक दोस्त रहता था| और वो अंकल मुझसे बहुत पयार करते थे और वो मुझे अपने पास रहने के लिए पापा को कहते रहते थे|पर अब जब स्कूल की बात आई तोह मुझे पापा ने उन अंकल के पास पड़ने के लिए भेज दिया था| अंकल का नाम राजेश था और उनके घर पर उनकी वाइफ उनका बीटा और बीटा की वाइफ रहती थी| अंकल मेरे घर आने से बहुत ही ज्यादा खुश थे और मुझे अंकल के साथ थोरा कम्फ़र्टेबल फील भी होता था|

अंकल एक गवर्नमेंट जॉब में थे और आंटी हाउस वाइफ थी| उनका बीटा आर्मी में था और असम में रहता था| उनके असम में रहने की वजह से वो अपनी बीवी से अलग रहता था और भाभी यहां अंकल आंटी के साथ में रहती थी|मैं अब जब घर पर आया तोह मुझे देख कर सरे खुश हो गए और अंकल और आंटी ने मुझे तोह गल्ले से ही लगा लिया| मैं तब अपने पापा साथ आया था और फिर हम सोफे पर बेथ गये और तब मैंने भाभी को देखा जो हमारे लिए चाय ले कर आ रही थी|मैं भाभी को देखते ही बस देखते ही रह गया और मुझे कुछ समझ नही आ रहा था की मुझे ये क्या हो रहा हे| अब पापा मुझे वहा छोड़ कर थोडे पैसे देकर वहा से चले गये| मैं वहा पहले तोह थोडे अन्कोमटेबल फील कर रहा था पर ये तोह आप भी जानते हो की किसी नयी जगह पर सेटल होना या मन लग्न कितना मुश्किल होता है|ठीक वेसे ही मेरे साथ भी हुआ|अंकल मेरे साथ बाते करते रहते थे जिससे मुझे कुछ अन्कोम्फोर्टटेबल फील न हो और फिर अंकल ने मुझे एक अलग से रूम भी दे दया जिसमे मैं आराम से बेथ कर पड़ सकता था और वही पर मैं सोता था|

मुझे जन कर काफी ख़ुशी मिली और फिर मैं अपने नये रूम में रहने लग गया|भाभी जिनको देखते ही मैं थोडा पागल सा गो गया था उनके बारे में भी आपको बता देता हूँ|भाभी का नाम ऋचा था और उसका फिगर बहुत कमाल का था पर हाँ उसका रंग सांवला था पर उसका फेस काफी आक्र्सक था| मैं अब भाभी के साथ भी काफी अच्छे से मिक्स उप हो गया था और भाभी मेरी स्टडी में हेल्प भी करवा दिया करती थी| मैं पदाई अक्सार अब उनके कमरे में लिया करता था क्योकि वो मेरी हेल्प भी करवती थी और कई बार तोह मैं उनके कमरे में ही सो जाता था|भाभी अब मेरे साथ काफी मजाक भी कर लिया करती थी और मैं भी भाभी साथ मजाक करलिया करता था|भाभी मुझे मेरे बारे में पूछते थी की मेर कोई गर्लफ्रेंड नही है क्या| तोह मेरा हर बार यही जवाब हॉट अता की भाभी मुझे गर्लफ्रेंड की क्या जरुरत है| अगर आप हो तोह कोई जरुरत भी नही है क्योकि मैं आपसे बाते मार लेता हूँ|मेरी बाते सुन कर भाभी मुझे लल्लू राम बोलने लग गये और फिर उन्होंने मुझसे पुच्छा की तू फिर जिम जाता हिया वहा भी कोई लड़की पसंद नही आई| तब भी मेरे मुंह से बस न ही निकली और फिर भाभी हंस पड़ी|अब उस रात मैं वही भाभी के रूम में सो गया और तब मुझे रात को अपने साथ कुछ अलग सा महसूस हुआ |

मैंने तब महसूस किया भाभी मेरेसाथ चिपक कर लेटी हुई थी और मेरे सीने पर हाथ फेर रही थी| मैं जाग चूका था पर मुझे ये सब अच्छा लग रहा था और भाभी ने मुझे किस किया तोह मैंने उन्हें अपने बाहों में भर लिया और उनके होठो को अपने होंठो में भर कर किस करने लग गया| तब वो उठी और फिर मेरे साइड में हो कर लेट गयी और सो गये|फिर जब हम सुबह उठे तोह भाभी मेरे लिए चाय लायी और फिर मुझे देख कर वो मुस्कुराने लग गयी|ये कहानी आप देसी कहानी डॉट नेट पर पढ रहे है|मैं अब उठ कर स्कूल के लिए तेयार हो कर चला आया और फिर जब वापिस आया तोह भाभी ने मुझे खाना दिया और वो तब भी वो मुझे देख कर मुस्कुराने लग गयी|अब शाम हो गयी और मैं पदाई करने भाभी के रूम में ही बेथ गया|रात को मियन वही पर सो गया और आज भाभी फिर मेरे साथ चिपक कर लेटी थी| और ये होते ही मैंने भी भाभी को कास कर जकड लिया और फिर हम दोनों एक दुसरे को किस करने लग गये| उघर बहार बहुत ही रोमांटिक मोसम बन रखा था और बारिश भी हो रही थी|उधर भाभी भी नाइटी में थी जिसमे से उसके ब्रा और पंतय भी दिख रही थी|अब मैंने देर न करते हुए उनके होंठो को अपने होंठो में भर लिया चूस लिया|अब जब मुझसे रहा नही गया तोह मैंने उन्हें कहा की लंड खड़ा हो गया है तब भाभी न मेरे कपडे उतार दिया और खुद के भी कपडे उतार कर मेरे ऊपर आ गयी| जब वो मेरे सामने नंगी हुई तोह मैं तोह बस उन्हें देखाता ही रहा गया और मेरा लंड डंडे की तरह खड़ा हो गया अब भाभी मेरे ऊपर से उठी और साइड में हो कर लेट गयी और फिर मैं उनके ऊपर आ गया| मैंने तब देर न करते हुए उनके बूब्स को हाथो में भर कर दबाते लग गया और फिर उन्हें मुंह में ले कर चूसने लग गया|

उए सब मेरे लिए पहली बार था तोह मुझे कुछ समझ नही आ था मैं बस पागलो की तरह चूसी जा रहा था| उधर भाभी के मुंह से आःह्ह आह्ह की आवाजे निकल रही थी और उनने दर्द हो रहा था जिसकी वजह से वो मुझे रोक रही थी पर मैं अब कहा रुकने वाला था| मेरे ऊपर तोह भूत स्वर था और मई बस चुसी जा रहा था और उधर मेरे लंड उनकी चूत पर लग रहा था जिससे अब मुझसे कण्ट्रोल करना बहुत ही मुस्किल हो रहा था|तब मैंने भाभी को लंड से चूत चोदने को कहा तोह भाभी ने मुझे कहा की इतनी भी जल्दी क्या है और मेरी उगली पकड़ कर अपनी चूत में दे डाली|चूत बहुत ही गीली थी और मुझे इसमें काफी मजा आ रहा था और उनकी चूत का पानी भी रहा था| और फिर मैंने खुद ही अपने लंड को उनकी चूत पर रखा और धक्का मरने लग गया पर मेरा लंड अन्दर नही गया| तब भाभी ने टंगे खोली और बोले की अब दाल और फिर मैंने तब जोर के धक्के से लंड अन्दर दाल दिया| लंड अन्दर जाते उनके मुंह से आह आह के आवाज निकल और फिर मैंने उनकी चूत को चोदना शुरू कर दिया| और तब मुझे ऐसा लग रहा था जेसे की मैं जन्नत में पहोंच गया हूँ और मैं उन्हें चोदी जा रहा था|अब इतना छोड़ने के बाद मैंने बहुत मजा किया और फिर मैंने उनकी चूत में अपना पानी निकल दिया और फिर उनको जप्पी प् कर लेता रहा और वो तब मुझसे बोली आज तूने मेरी तड़प मिटा दी और फिर हम सो गए|


Comments are closed.



Online porn video at mobile phone


चुदाई कहानियाbeautiful chutchodai ki kahaneहीरौन दुध की चुत Betichudaistory.mastrambur choda chodibete ne maa ki chudai ki kahanichudayi ki kahanidevar bhabhi real sexindian hindi antarvasnaKale lund se meri gand ka balatakar Hindi kahaniyadevar bhabhi sexy storyantervasna.combhabhi ki chodai kahaniAntarvasna in hindisexy hindi marathi storyhindi chut landसेक्स स्टोरीजteacher ki chudai hindi maiलड़की चोदनो के सिल तोड़ वीडियो10 saal ki ladkidevar bhabhi ki chudai ki kahaniMummy ko papa ke staff ne chodasexy chut and landtop chudai kahaniantarvasnj.commosi ki chut marimaa bete ki chudai ki kahanichoot fadopakadagujrati fuck storymoti aurat ki nangi photoकोवारी चुत होटल माँek chut me do lundnew bhabhi ki chudai kahanisharaeitkahani chudai hindi mebahbi ke doodh dabyae xnxx.comsavita bhabhi free stories in hindinepali chudaibap beti sex videobhabhi devar ki chudai photoantarvasna randi ki chudaihindi bf kahanidesi aunty ki chut chudaibhabhi ki chodai in hindiholichudaihindistorystudent teacher ki chudaitrain me faujio ne chodi kahanihindipornstorieskuwari chut marimosi ki chudai kahaniwww.aunty muth maar xxx kahanipapa ne meri gand mariwww freehindisexstories com bur ki aag ki ghatak kahaniraj sharma kahanipapa ne aunty ko chodabai bahan sex suksex antarvasna and kamukta hot hindi sex storihindi lund chutmuslman xxxdesi nokrani sexnidhi ki chudaimuskan fuckmampoks.rumaa chudai hindi kahanihindi comic xxxhindi comic xxxwww bhabhi ki chudai kahaninepali ladki ki chutKAMUKTA BIHARdidi fuck storyxxx kahani bhatiji ko jabardasti chodasabse lamba landrat me maa ko chodapreeti ki gangbang sex storychut holisex ki kahaani